लोकत्रंत्र के चारो खबों की रिपेयर, देश भ्रमण से लाऊंगा राजनीति में नया दौर : के के शर्मा

पूरे देश में करूगां भ्रमण-शिक्षित युवाओं को राजनीति से जोडूगां,  बिमार राजनीति से लडूंगा और हराऊंगा, मेरे देश भ्रमण से होगा शुरू राजनीति का नया दौर

हाईकोर्ट पर हो सुप्रीम कोर्ट का नियन्त्रण, हर स्टेट में स्थापित हो सुप्रीम कोर्ट की बैंच, जिला जजो को मिले आर्टिकल 226 के अधिकार

लोकत्रंत्र के चारो सतम्भों से भ्रष्ट दरारो को दूर कर सच्चे लोकत्रंत्र की करेगें स्थापना

विरेन्द्र चौधरी

नयी दिल्ली। जिला जज अमेठी  उत्तर प्रदेश 28 फरवरी को रिटायर हुए। 28/1फरवरी रात 1. 30  को उन्होने आजा़द भारत कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष  की शपथ ली। इतनी जल्दी क्यों ? जबाब मिला।काम करने की आदत है। बहुत सारे काम करने है।पहले न्यायिक काम निबटाये अब समाज और राष्ट्र के बहुत सारे काम निबटाने है। नो छुट्टी । इस देश में छुट्टी सबसे बड़ी समस्या है।

एक सवाल के जबाब में एबीसी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के के शर्मा ने  कहा लोकत्रंत्र के चारों संतम्भो में दरार है, जिसको रिपेयर करने , आखिरी आदमी की लडा़ई लड़ने, भ्रष्टाचार को राजनीति से भगाने और सच्चे  लोकत्रंत्र की स्थापना के लिए राजनीतिक संग्राम में उतरा हुं। राजनीति में स्वच्छता लाने के लिए पूरे देश में डोर टू डोर, गांव-गांव जाऊगां। शिक्षित और समर्पित युवाओं को जोड़ने के लिए 20 मार्च से स्टेट टू स्टेट पैदल मार्च करूंगा, ताकि राजनीति का नया दौर शुरू किया जा सके और युवाओं में राष्ट्रीय सोच को चेतन किया जा सके।

के के शर्मा राष्ट्रीय अध्यक्ष एबीसी ने प्रेस से कहा आम आदमी न्याय को तरस रहा है, इसके लिए न्याय व्यवस्था में सुधार की आवश्यकता है। शर्मा ने कहा राजनीति में सत्ता पाना और उसे बचाये रखना ही राष्ट्र धर्म मान लिया है।नेताओं ने षड़यत्रं के तहत जातीय,  धार्मिक और सम्प्रदायिक मुद्दों को पैदा रख जनता को मानसिक बीमार बना दिया है। लोग एक दूसरे से डरे हुए है, मानसिक गुलाम हो गये है। इसी मानसिक गुलामी से आजा़द कराने के लिए देश में भ्रमण करूगां ताकि लोग असली आजादी के लिए एकजुट हो सकें।

उन्होने कहा देश में न्यायिक प्रणाली में सुधार होना जरूरी है। मुकदमें तय समय में पूरे होने चाहिए। हाईकोर्ट पर सुप्रीम कोर्ट का नियंत्रण होना चाहिए। हर स्टेट में सुप्रीम कोर्ट की बेंच स्थापित होनी चाहिए । पूर्व जज ने कहा कि संविधान के आर्टिकल 226 की पावर जिला जजों को देनी चाहिए ।इससे हाईकोर्ट का बोझ भी कम होगा और न्याय जल्दी मिलेगा । सुप्रीम कोर्ट की बैंच स्टेट टू स्टेट स्थापित होनी चाहिए, इससे न्यायिक व्यवस्था में गतिशीलता आयेगी।

उन्होनें कहा  देश में भारतीय रोजगार आयोग का गठन हो।जो बेरोजगारों का पंजीकरण कर रोजगार मुहैया कराये। आयोग द्वारा ही बेरोजगारों को ऋण उपलब्ध करा लघु उधोग स्थापित करये जाये। के के शर्मा ने कहा सत्ता और प्रशासन में उच्च पदो पर बैठे लोगों में सोच और काम करने की कमी है। उनके पास योजनाएं नही है जो है उनमें वे अपना स्वार्थ ढुंढते है। अगर देश में काम करने वाले लोग आ जाये तो देश की दशां और दिशां बदलजाये।उन्होने कहा की देशभर में भ्रमण का उद्देश्य राजनीति में अच्छे लोगो को जोड़ना है। पूर्व जज ने कहा उनके देश भ्रमण से हर स्टेट में सुप्रीम कोर्ट की बैंच और लोकत्रंत्र के चारो खंभो की दरार  रिपेयर पर जनता में बहस छीड़ जायेगी। ये ही मेरा उद्देश्य है।

प्रेसवार्ता में पार्टी के  राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पी डी शर्मा,  उत्तर प्रदेश अध्यक्ष बंसत यादव, पश्चिमी बंगाल अध्यक्ष आर पी सरकार और महाराष्ट्र अध्यक्ष विजय सुर्यवशीं सहित सैकडो लोग शामिल रहे।

Share this...
Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *