राष्ट्रीय मेडीकल आयोग छात्रों और अभिभावकों से छल : के के शर्मा

विरेन्द्र चौधरी
नयी दिल्ली। आज़ाद भारत कांग्रेस पार्टी के मुख्यालय से जारी ब्यान में राष्ट्रीय अध्यक्ष के के शर्मा ने  कहा
कि मोदी सरकार ने आजादी के बाद से स्थापित राष्ट्रीय योजना आयोग को खत्म कर नीति आयोग बनाया, जिससे नीतिगत योजनाएं प्रभावी ढगं से ना तो बन पा रही है,ना ही निष्पादित हो पा रही है। अब भाजपा एक और घातक कदम उठाते हुए प्राईवेट मैडीकल काॅलेजो को खोलने वाले शिक्षा माफियाओं के लिए मैडीकल कांउसिल आॅफ इंडिया को खत्म करके राष्ट्रीय मैडीकल आयोग बनाने की तैयारी कर चुकी है। पार्टी अध्यक्ष ने कहा कि पहले मैडीकल काॅलेजो की स्थापना ,रिन्युवल,काॅलेजो की मान्यता व विभिन्न स्थानो पर सीटे बढाने के लिए एम सी आई के कडे प्रावधानों से गुजरना पडता था। भाजपा द्वारा नये प्रस्तावित प्रावधान से केवल मैडीकल कालेजो की स्थापना और मान्यता के लिए ही प्रावधान किया जा रहा है।जो हानिकारक सिद्ध होगा।
उन्होने कहा कि प्रस्तावित नये प्रावधान में स्नातकोत्तर कोर्स के लिए किसी अनुमति का कोई प्रावधान,नियम और शर्ते नही रखी जा रही है। उन्होने बताया सबसे खतरनाक यह है कि मैडीकल कालेजो की स्थापना व मानको का उल्लंघन करने पर सजा का प्रावधान खत्म करके केवल आर्थिक दंड का प्रावधान रखा जा रहा है। इस लचर नियम से शिक्षा माफियाओं को जेल जाने का डर समाप्त हो जायेगा। शिक्षा माफिया अपने स्वार्थो की पूर्ति के लिए खुली मनमानी करेगें।जो छात्रों और अभिभावकों के लिए घातक होगा। उन्होने कहा आजाद भारत कांग्रेस ऐसे जनविरोधी कानून को कभी लागू नही होने देगी।
जयाप्रदा-आज़म पर के के शर्मा
एबीसी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि जयाप्रदा पर ओछी टिप्पणी करना नारी शक्ति का अपमान है। उन्होने कहा कि जयाप्रदा को पहला चुनाव आजम खां ने ही जिताया था।तब जयाप्रदा कौन थी ? जब लखनऊ में जयाप्रदा ने अपने दर्द का ब्यान करते हुए आज़म खां की सच्चाई ब्यान की तो आजम खां उसे नाचने गाने वाली बताकर अनैतिकता पर उतर आये है। शर्मा जी ने कहा कि इस तरह के ब्यान आजम खां के छोटी सोच का घोतक है।

Share this...
Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *