शिव उर्फ काका के रंगदारी मांगने पर व्यापारी मनीष को हार्टअटैक,रिपोर्ट दर्ज

व्यापारी से मांगी रंगदारी-तनाव से व्यापारी की बढ़ी दिल की धड़कन-वक्त पर इलाज मिलने से जान बची

सूचना मिलते ही सब-इंस्पेक्टर सरदार सुरेन्द्र सिंह पहुंचे नर्सिंग होम-व्यापारी को दिया निष्पक्ष जांच का आश्वासन

रंगदारी मांगने वाले शिवकुमार उर्फ काका का पहले भी रहा है अपराधिक इतिहास

विरेन्द्र चौधरी

8057081945

सहारनपुर। राघवपुरम् निवासी एक व्यापारी से नाजायज तरीके से प्रापर्टी में जबरन हिस्सा मांगने,हिस्सा ना देने पर 5 लाख रूपयों की रंगदारी देने,रंगदारी ना देने पर अपरण कर जान से मारने की धमकी देने का समाचार प्रकाश में आया है।जिसकी लिखित तहरीर रिपोर्टिंग चौकी कोर्ट रोड़ में दे दी गई है।सब-इंस्पेक्टर सरदार सुरेन्द्र सिंह ने जांच शुरू कर दी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार राघवपुरम् निवासी मनीष अग्रवाल का SPM JOBS के नाम से प्लैसमैंट एंजेसीहै। जगाधरी वालो के नाम से गिल कालोनी में एक प्रोपर्टी है,जिस पर फैमिली डिस्पियूट था। पारिवारिक सदस्यों की ओर से मनीष अदालत में इसकी पैरवी कर रहा था।हाल म़े पारिवारिक वाद निबटाने के बाद उक्त प्रोपर्टी को बेच दिया गया।

ब्रिजेश नगर निवासी शिवकुमार उर्फ काका ने इस प्रोपर्टी की बाबत मनीष से रंगदारी मांगनी शुरू कर दी।घटनाक्रम के अनुसार 2 अक्टूबर को काका ने अपने साथियों सहित मनीष के आॅफिस में घुसकर मनीष पर रिवाल्वर तान दी और प्रापर्टी में हिस्से की मांग की। मनीष के मना करने पर मनीष से मारपीट करते हुए अपहृण की कोशिश की। मौके पर शिव विकास और सचिन के बीच-बचाव कराने पर 5 लाख ना देने पर जान से मारने की धमकी देते हुए चला गया।अगले ही दिन काका ने फिर फोन से रंगदारी मांगी। ना देने पर  अपहरण और जान से मारने की धमकी दी। आज भी काका ने रंगदारी की धमकी दी, जिससे तनाव के चलते मनीष को हार्टअटैक की शिकायत हुई। मौके पर उनके मित्रो ने उन्हें नर्सिंग होम पहुंचाया। जहां डाॅक्टर से इलाज के बाद उन्हें कुछ आराम मिला।

इस घटनाक्रम की पुलिस रिपोर्ट करा दी गई है। जिसकी जांच हल्का इंचार्ज सरदार सुरेन्द्र सिंह कर रहे है। जो सूचना पाते ही नर्सिंग होम पहुंच गये थे। सनद रहे अभी हाल में ही कोर्ट रोड़ के व्यापारी जुनेजा को भी कुछ लोगो के धमकी देने के उपरांत हार्टअटैक आ गया था।जिसकी अगले ही दिन मृत्यु हो गयी थी।

रंगदारी मांगने वालो की जगह सीधी जेल–डीआईजी शरद सचान

सहारनपुर मंडल के डी आई जी शरद सचान ने कहा है रंगदारी मांगने वालो की जगह सीधी जेल है। उन्होने कहा कि जेल जाने वाले बदमाशों के गैंग रजिस्टर्ड किये जाएं,साथ ही उनकी हिस्ट्रीशीट खोली जाए। श्री सचान ने कहा कि रंगदारी मांगने वालो को सलाखों के पीछे भेजे ताकि समाज में किसी तरह का भय ना रहे।

शिव उर्फ काका पहले से है सजायाफ्ता

सनद रहे भलस्वा बेरी निवासी शिवकुमार उर्फ काका थाना नागल से डबल मर्डर में अदालत से सजायाफ्ता है और आजकल जमानत या पैरोल पर बाहर है।

Share this...
Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *