कड़ी मेहनत और अर्जुन की आंख का नाम है अस्मा

अब्बा मोहम्मद महफ़ूज अम्मी शमशाद की बेटी है अस्मा खान – अभी है छात्रा उम्र केवल 21 – अभी तक 2 लाख लोगों को करा चुकी है रक्त उपलब्ध – बाल एवं महिला शोषण के खिलाफ लेती है लोहा

भोपाल के शासकीय मोतीलाल विज्ञान महाविद्यालय की बीएससी फाइनल ईयर में मिलिट्री साइंस पढ़ने वाली 21 वर्षीय छात्रा जो कि कक्षा दसवीं से ही सामाजिक कार्यों में अपनी सक्रिय भूमिका निभाती आ रही हैं। रक्तदान के क्षेत्र जागरुकता फैलाने का कार्य करती आ रही हैं, और अभी तक 2 लाख से ऊपर मरीज़ों के लिए रक्त उपलब्ध करा चुकी हैं। इसके अलावा बाल एवं महिला शोषण के खिलाफ भी मोर्चा खोलती है। अस्मा ने ग्रामीण इलाकों में जागरुकता फैलाई, अपने परिवार से बिछड़े लोगों को उनके घर तक पहुंचाने का कार्य भी किया। युवाओं को देश और समाज के प्रति अपनी ज़िम्मेदारी याद दिलाने के उद्देश्य से ‘यूथ ब्रिगेड टीम’ का निर्माण किया। जिसमें आज भोपाल शहर के काफी युवा जुड़ के सक्रिय रूप से अपनी निस्वार्थ सेवाएं दे रहे हैं। अस्मा का जीवन में लक्ष्य भारतीय सेना में अफसर के रूप में अपनी सेवाएं देने है।

रूलर एरिया में चलाती है जागरूकता कार्यक्रम – परिवार से बिछड़े लोगो को उनके घर तक पहुंचाना भी है उनकी मुहिम का हिस्सा – सामाजिक और राष्ट्रीय कर्तव्यों को निभाने की समझी जिम्मेदारी किया यूथ ब्रिगेड का निर्माण – लक्ष्य है भारतीय सेना में अफसर बन राष्ट्र को सेवा देना

इसके अलावा हाल ही में यूथ ब्रिगेड टीम की संचालिका अस्मा खान द्वारा एक अनूठी मुहीम चलाई जा रही है जिसमें वह अपने साथियों के साथ मिलकर शहर की गरीब बस्तियों और ग्रामीण इलाकों में जाकर निःशुल्क आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविरों का आयोजन कर रही हैं। ये विचार उनके मन मे तब आया जब उन्होंने शहर में बढ़ते अपराधों को देखा और ये देखा कि गरीब तबके के बच्चों तक हम पहुँच ही नहीं पाते। यदि इन बच्चों को प्रशिक्षित कर दिया जाएगा तो कम से कम उनमे एक आत्मविश्वास पैदा होगा जोकि उनके व्यक्तित्व के लिए और सुरक्षा दृष्टि से भी काफी फायदेमंद होगा।

इन शिविरों को लगाने में ज़्यादा बड़ा खर्चा तो नहीं आता परन्तु दूर दराज़ इलाकों में हर रोज़ जाना, ट्रेनिंग के दौरान लगने वाले सामान आदि में कुछ खर्चा अवश्य आता है तो उसके लिए यूथ ब्रिगेड से जुड़े सभी युवा अपनी इच्छानुसार अपनी पॉकेट मनी से पैसे कलेक्ट करते हैं जो इस कार्य मे इस्तेमाल होता है।

विरेन्द्र चौधरी 8057081945

Share this...
Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *